Quick Links

भूमिका

    यह संसार खेल का सबसे बड़ा मैदान है और मनुष्य खिलाड़ी। मनुष्य का जन्म खेलने के लिए होता है। जब तक जीवित है, खेलता है तथा मृत्यु को पाकर मैदान से बाहर हो जाता है। मनुष्य का बचपन, जवानी और बुढ़ापा तीन अवस्था ही तीन पारी है। तीनो पारी में खेल का चुनाव और आनंद की अनुभूति पृथक-पृथक होती है, यहि कारण है कि मानव उदभव काल से ही लोक जीवन में अनेक खेलों की परम्परा विकसित हुई है जिसे हम लोक खेल, ग्रामीण खेल, प्राचीन खेल या जन-जन का खेल कहते हैं। यह खेल पूर्वजों की अनमोल देन है जिसमे हमारी इतिहास छुपी हुइ है तथा संस्कृति उजागर होती है। ऐसे ही लोक खेलों को जानना तथा लुप्त होने से बचाना हर व्यक्ति का दायित्व है।

चंद्रशेखर चकोर

परिचय

     लोक खेलों का उत्सव उनकी परंपरा एवं सम्यक व्यवस्थापन में ही निरंतर संभव है, समयानुकूल आधुनिकता के झंझावात से प्रभावित लोक खेलों को पुनः अपनी धरती अपने लोगों के मध्य जीवन्तता के साथ उन्नयन करने का संकल्प लिया चंद्रशेखर चकोर ने। छत्तीसगढ़के रायपुर जिलान्तर्गत ग्राम कांदुल मे 9 सितं 1968 को चंद्रशेखर का जन्म हुआ। ग्राम के निश्छल प्राकृतिक वातावरण मे स्वयं को आत्मसात करने वाले चंद्रशेखर चकोर ने आंचलिक एवं परंपरागत किन्तु मौलिक खेलों को व्यवस्थित करने का संकल्प किया। निसंदेह किसी भी खेल के व्यवस्थापन के लिए नियम शर्ते एवं अनुशासन आवश्यक होता है, एतदर्थ 1989 मे नियमन किया और अपने ही ग्राम कांदुल मे 11 जनवरी 1990 को अंचल का पावन किसानी त्यौहार छेरछेरा पुन्नी के अवसर पर गिल्ली डंडा का प्रथम प्रतियोग का आयोजन किया। नवा सुम्मत समिति के संगठनाधीन इस संकल्प आयोजन ने निरंतर गति बनाई। "चकोर" के जीवन का एक अप्रतिम लक्ष्य बना लोक खेलों का संग्रह, प्रतियोगिता एवं खेल शिविरों का आयोजन |

    चंद्रशेखर चकोर ने मात्र दस वर्षो के अथक प्रयास से शताधिक लोक खेलों का संकलन किया जिसमे विशेषता, नियम शर्ते, अनुशासन एंव शारीरिक लाभ को समाहित कर "छत्तीसगढ़ के पारंपरिक लोक खेल" के रूप मे पुस्तक 2004 मे प्रकाशित की। निश्चय ही लोक खेलों पर प्रमाणित यह प्रथम पुस्तक है जो अब संदर्भ ग्रंथ के रूप मे लोक मान्यता प्राप्त है। निसंदेह समयानुसार संशोधन पुनरीक्षण से सम्पूरित यह ग्रंथ सभी वर्ग के लिए पठनीय है..................

News & Events

Photo Gallery

View Photo

खुशहाल किशान खुशहाल छत्तीसगढ़

View

 

web counter

Dedicated to

 

About Us   |   Lokh Khel   |   Photo Gallery

   

News & Events   |   Enquiry   |   Contact Us  

      Copyrights 2012 Lokh Khel. All rights reserved.

 Powered by : Softbit Solution